The easiest home remedy for relief in sciatica pain sagarvansi ayurveda

साइटिका के दर्द में आराम पाने के लिए सबसे आसान घरेलू उपचार / The easiest home remedy for relief in sciatica pain

साइटिका का घरेलू उपाय

साइटिका एक ऐसा लक्षण है जिसमें मनुष्य के शरीर में कमर से लेकर पैरों की उंगलियों तक दर्द बना रहता है। यह दर्द शरीर में कमर की नसों से शुरू होकर पैरों की नसों तक जाता है। अधिकतर साइटिका का दर्द मनुष्य में गलत तरीके से उठना - बैठना, अनियमित दिनचर्या जीवनशैली, कुर्सी पर काफी समय तक बैठकर काम करना, गलत तरीके से सोने का ढंग, कुर्सी पर काफी आगे की ओर खिसककर बैठना इत्यादि कारणों से साइटिका का दर्द उत्पन्न होने लगता है। सीधे शब्दों में कहा जाए तो साइटिका कोई बीमारी नहीं है परंतु यह एक बड़ी बीमारी होने का संकेत हो सकती है। साइटिका का दर्द काफी असहनीय होता है। साइटिका का दर्द ज्यादातर ऐसे व्यक्तियों को काफी अधिक परेशानी देता है जो व्यक्ति काफी लंबे समय तक कुर्सी पर बैठकर काम करते हो, काफी देर तक कुर्सी पर बैठे रहने से पीड़ित व्यक्ति की नसों में तनाव होने लगता है इसी कारण साइटिका का दर्द शुरू हो जाता है। साइटिका का सबसे प्रमुख लक्षण है जब पीठ और पैर में दर्द होने लगे साइटिका में नसों के फाइबर इससे प्रभावित होते हैं उस समय पैरों की उंगलियों को हिलाना भी कठिन होता है और पैरों को उठाना भी मुश्किल हो जाता है। साइटिका यदि उग्र रूप ले ले तो खड़े रहना और चलना भी काफी मुश्किल हो जाता है। साइटिका से संबंधित वैज्ञानिकों के शोध द्वारा यह पता चला है कि साइटिका के दर्द के उपचार का सबसे कारगर और उपयुक्त तरीका है व्यायाम (योगासन) खासकर ऐसे व्यायाम जिनमें शरीर को आगे की तरफ खींचना होता है। ऐसे प्रकार के व्यायाम से प्रभावित नसों की जगह पर दबाव पड़ने लगता है जिससे साइटिका से पीड़ित व्यक्ति को काफी राहत मिलती है।

 

योगासन या व्यायाम से साइटिका के दर्द में आराम मिलता है

1.  मकरासन

2.  मत्स्यासन

3.  भुजंगासन

4.  वज्रासन

5.  वायु मुद्रा

6.  क्रीडासन               

 

वज्रासन एकमात्र ऐसा आसन है जिसमें आसन करने वाला व्यक्ति स्वयं की रीढ़ की हड्डी के निचले हिस्से पर आसानी से ध्यान केंद्रित कर सकता है।

 

साइटिका में विशेष रूप से ध्यान देने वाली बातें

1.  अधिक दर्द होने के समय काम ना करके आराम करना चाहिए

2.  ऊंची एड़ी की चप्पल ना पहने

3.  गर्म पानी की थैली से सिकाई करें

4.  ज्यादा मुलायम गद्दों पर ना सोए

5.  वेस्टर्न टॉयलेट का इस्तेमाल करें

6. आगे की ओर झुकने से बचें

7.  कोई भारी सामान ना उठाएं

 

उपचार

अपनी पगतलियों की अपने ही हाथों की हथेलियों से तेल मालिश करके एक्यूप्रेशर पद्धति की तरह चमत्कारपूर्ण उपचार :-

अपनी हथेलियों पर सरसों का तेल लगा कर अपने पांव के तलवों की मालिश करने की विधि- अपनी बायीं हथेली पर सरसों का तेल लगाकर दाहिने पैर को दाहिने हाथ से पकड़कर मालिश करें इसी तरह दाहिनी हथेली पर तेल लगाकर बायें पैर को बायें हाथ से पकड़कर  नित्य प्रत्येक तलवे की 2 से 4 मिनट तक मालिश करें इससे  अनेकानेक रोगों से बचा जा सकता है बल्कि रोग निरोधक क्षमता बढ़ने के साथ-साथ कई साध्य असाध्य रोगों से बिना किसी दवा - प्रयोग के ही छुटकारा मिल सकता है। यह पांव के तलवों की मालिश प्रातः खाली पेट व्यायाम के बाद परंतु नाश्ते से पहले, सायं भोजन से पहले और रात्रि सोने से पहले परंतु शाम के भोजन के 2 घंटे बाद प्रतिदिन एक बार अवश्य करें 10 - 15 दिन में चमत्कार पूर्ण लाभ का प्रत्यक्ष अनुभव होगा।

 

1. लहसुन की चार - पाँच (पहाड़ी लहसुन सर्वोत्तम हे) कलियों को बारीक पीसकर 200 मिलीलीटर दूध में पकाकर थोड़ी सी शक्कर डालकर पीने लायक गरम रहने पर रात्रि में उसका सेवन करें इससे काफी लाभ मिलेगा।

2. साइटिका में सबसे आसान व जल्द आराम पाने के लिए योगासन सबसे महत्वपूर्ण उपचार हैं। जिसके बारे में हम आपको उपरोक्त सूचित कर चुके हैं।