Gastric problem solution tips in Hindi

गैस के लक्षण – पेट में सूजन (Bloating)

आज के दौर में गैस की समस्या से काफी ज़्यादा लोग पीड़ित हैं। इस समस्या के फलस्वरूप आपको बदहज़मी और खाली पेट जैसी कई अन्य परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। गैस की समस्या की वजह से काफी स्वस्थ व्यक्ति भी जलन और कब्ज़ की समस्या से पीड़ित हो जाता है। गैस से आंतों में समस्या पैदा हो जाती है, अतः ऐसी स्थिति में आप ऊर्जा से रहित हो जाते हैं। अतः भोजन करते समय आपको काफी सावधानी बरतनी चाहिए। 

एसिडिटी क्या है – पेट में गैस की समस्या क्या है? (What is gastric problem?) 

एसिडिटी क्या है? आजकल प्राय: बच्चो,युवा वर्ग एवं  60 वर्ष से अधिक के उम्र  के लोगो मे पेट मे अम्ल की अधिकता के कारण गैस की समस्या देखी जा रही है। यदि पेट की भीतरी परत अम्ल बना रही हो और वो पेट की सतह को छू रही हो तो इसके द्वारा पीड़ित व्यक्ति को असहनीय दर्द एवं पीड़ा होती है। 

अगर गैस्ट्रिक म्यूकोसा (gastric mucosa), जो कि पेट के मेम्ब्रेन (membrane) की एक परत होती है, को कोई परेशानी होती है इससे पेट में अम्ल (acid) पैदा होता है। जल्दी ही ये अम्ल पेट के संपर्क में आ जाते हैं जिससे आपको काफी मात्रा में दर्द और तकलीफ का सामना करना पड़ता है। इससे आपको अंत में गैस्ट्रिक (gastric) का सामना करना पड़ता है। इस समस्या का शिकार आमतौर पर 40 वर्ष या इससे ज़्यादा के लोग होते हैं, पर यह समस्या जवान लोगों और बच्चों में भी देखी जा सकती है। 

पेट में गैस की समस्या का कारण? (Causes of gastric trouble) 

पेट में गैस की समस्या मुख्य कारण पेट मे बनी हुई अम्ल की मात्रा अपाच्य भोजन, पेट मे जलन एवं हृदय मे जलन होती है। इसके अलावा और भी कारण होते है, गैस की समस्या के जैसे- वाइरल ज्वर,इंफेकशन,पथरी, ट्यूमर,अल्सर इत्यादि है। इसके अलावा भी बहुत सारे कारण है जिसकी वजह से लोग इस समस्या से ग्रसित रहते है जैसे – अत्यधिक भोजन, मानसिक चिंता,असुपाच्य भोजन,शराब पीना,भोजन का उचित प्रकार से न चाबाना इत्यादि। इन सभी कारण के अलावा गैस की समस्या का एक कारण बॅक्टीरिया का होना भी हो सकता है- बॅक्टीरिया जैसे एच-पाइलोरी। इस समस्या से निवारण  के लिए शुरुआती दौर मे ही द्वा के द्वारा सुरक्षित रखा जा सकता है। गैस की समस्या  के मुख्य लक्षण उल्टी,दस्त,पेट मे जलन एवं भोजन का न पच पाना इत्यादि है। 

पेट के गैस से बचने के लिए अच्छे सुझाव 

पेट में गैस की समस्या के मुख्य कारण एसिडिटी, बदहज़मी, पेट में दर्द और सीने में जलन। कुछ और कारण हैं वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण, फ़ूड पोइज़निंग, किडनी में पथरी, कब्ज़, ट्यूमर, पैंक्रिअटाइटिस और अलसर आदि। ऐसे कई कारण होते हैं जिनकी वजह से लोग गैस की समस्याओं के शिकार होते हैं। इनमें से कुछ कारण हैं तीखा या चटपटा भोजन करना, तनाव, हाज़मे में तकलीफ, भोजन अच्छे से ना चबाना और काफी मात्रा में शराब का सेवन। इसके अलावा एच पाइलोरी नामक बैक्टीरिया के संक्रमण से भी गैस की समस्या होती है। एसिडिटी की दवाई, अतः आपको इस गंभीर समस्या का इलाज निकालना चाहिए। इसका शुरूआती चरण में पता चलने पर तथा उपचार शुरू होने पर आप जल्द ही स्वस्थ हो जाएंगे। भूख न लगना, बदबूदार सांसें, पेट में सूजन, उलटी, बदहज़मी, दस्त आदि गैस के लक्षण हैं।

गैस के लक्षण – गैस की समस्या के सामान्य लक्षण (Common symptoms of gastric problems) 

गैस के लक्षण – बदहज़मी (Indigestion) 

बदहज़मी का मुख्य कारण गलत खानपान या अधिक मात्रा में भोजन करना हो सकता है। ज्यादा तेज़ी से खाना खाने पर भी बदहज़मी हो सकती है। शारीरिक और मानसिक तनाव से भी कई बार बदहज़मी हो सकती है। बदहजमी के दौरान पेट में खाना हज़म होने के दौरान अम्ल (acid) का उत्पादन होता है। इससे काफी पीड़ा और परेशानी होती है। 

सीने में जलन (Heartburn) 

सीने में जलन का मुख्य कारण पेट का अम्ल होता है, जिसके इसोफेगस (oesophagus) में आ जाने की वजह से ही यह जलन होती है। इस समस्या के मुख्य लक्षण हैं गले में जलन। इस समय कुछ भी निगलना काफी मुश्किल हो जाता है। कई बार इसकी वजह से कई अन्य गंभीर समस्याएं जैसा दिल के दौरे की समस्या भी हो सकती है। ऐसा होने पर डॉक्टर से सलाह करके कुछ दवाइयां ले लें। 

गैस के लक्षण – पेट में सूजन (Bloating) 

इसके अंतर्गत आपके पेट पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है। ऐसा देखा गया है कि पुरुषों के मुकाबले महिलाएं इस समस्या की ज़्यादा शिकार होती हैं। जो लोग कब्ज़ के शिकार होते हैं, उन्हें पेट का सूजन होने की संभावना सबसे ज्यादा रहती है।