One Ayurvedic treatment for problems like gas, constipation and indigestion (in hindi) sagarvansi ayurveda

गैस, कब्ज और अपच जैसी समस्याओं के लिए एक ही आयुर्वेदिक इलाज / One Ayurvedic treatment for problems like gas, constipation and indigestion (in hindi)

गैस, कब्ज, अफरा जैसी समस्याओं का एक ही औषधि से समाधान (Gas,Constipation,Indigestion)

आज के समय में गैस की समस्या, कब्ज की समस्या, अफरा व तमाम पेट की समस्या से काफी ज्यादा लोग पीड़ित हैं। इस समस्या के फलस्वरुप पीड़ित को  बदहजमी और खाली पेट जैसी कई अन्य परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। गैस की समस्या, की वजह से काफी स्वस्थ व्यक्ति भी जलन और कब्ज की समस्या से पीड़ित हो जाते हैं। धीरे धीरे जब कब्ज की समस्या अपने चरम पर पहुंच जाती है तब वह भयानक व कष्टदायक बीमारी पाइल्स को उतपन्न करती है। हमारी वेबसाइट में पाइल्स का भी सस्ता व रामबाण इलाज है। गैस से आंतों में समस्या पैदा हो जाती है अतः ऐसी स्थिति में आप उर्जा से रहित हो जाते हैं। अतः भोजन करते समय आपको काफी सावधानी बरतनी चाहिए।

 

 गैस की समस्या क्या है

आजकल प्रायः बच्चों युवा वर्ग एवं 60 वर्ष से अधिक के उम्र के लोगों में पेट में अम्ल (acid) की अधिकता के कारण गैस की समस्या देखी जा रही है। यदि पेट की भीतरी परत अम्ल बना रही हो और वह पेट की सतह को छू रही हो तो इसके द्वारा पीड़ित व्यक्ति को असहनीय दर्द एवं पीड़ा होती है। अगर गैस्ट्रिक म्यूकोसा जो कि पेट की एक परत होती है को कोई परेशानी होती है तो इससे पेट में अम्ल (acid) पैदा होता है। जल्द ही ये अम्ल (acid) पेट के संपर्क में जाते हैं इससे आपको काफी असहनीय दर्द और तकलीफ का सामना करना पड़ता है। इससे आपको अंत में गैस्ट्रिक का सामना करना पड़ता है। इस समस्या का शिकार आमतौर पर 40 वर्ष या इससे ज्यादा के लोग होते हैं पर यह समस्या जवान लोगों और बच्चों में भी देखी जा सकती है।

 

पेट में गैस की समस्या का कारण

पेट में गैस की समस्या के मुख्य कारण पेट में बनी हुई अम्ल की मात्रा, अपाच्य भोजन, पेट में जलन एवं हृदय में जलन होती है इसके अलावा भी गैस की समस्या के कई कारण होते हैं जैसे वायरल फीवर, इन्फेक्शन, पथरी, ट्यूमर, अल्सर इत्यादि इसके अलावा भी बहुत सारे कारण है। जिसकी वजह से लोग इस समस्या से ग्रसित रहते हैं जैसे अत्यधिक भोजन, मानसिक चिंता, असुपाच्य भोजन, शराब पीना, भोजन का उचित प्रकार से ना चबाना इत्यादि इन सभी कारणों के अलावा गैस की समस्या का एक कारण बैक्टीरिया का होना भी हो सकता है। गैस की समस्या के मुख्य लक्षण उल्टी, दस्त पेट में जलन एवं भोजन का पचना इत्यादि।  जेसे कई कारण होते हैं जिनकी वजह से लोग गैस की समस्याओं के शिकार होते हैं।

                      

गैस के लक्षण  

1. बदहजमी

2. सीने में जलन

3. पेट में दर्द  

4. पेट में सूजन

5. उल्टी दस्त                        

6. पेट में जलन

 

कब्ज

अनियमित खान-पान और दिनचर्या के कारण कब्ज और पेट में गैस की समस्या आज कल आम बीमारी की तरह हो गई है। कब्ज रोगियों में गैस व पेट फूलने की शिकायत भी देखने को मिलती है। लोग कहीं भी और कुछ भी खा लेते हैं। खाने के बाद बैठे रहना, डिनर के बाद तुरंत सो जाना ऐसी कुछ आदतों के चलते मनुष्य को कब्ज की शिकायत शुरू हो जाती है। पेट में गैस बनने जैसी समस्या या परेशानियां ज्यादातर बुजुर्गों में देखी जाती है लेकिन यह किसी को भी और किसी भी उम्र में हो सकती है। कब्ज कि समस्या जब उग्र रुप ले लेति है तब वह एक भयानक व कष्टदायक बिमारी को जन्म देती है जिसको बबासीर (Piles) केहते है।

आइए हम आपको कब्ज से बचने के लिए आयुर्वेदिक औषधि के बारे में जानकारी देते हैं।

 

उपचार

इंद्रयाणम 100 ग्राम, सनाय 200 ग्राम, नागरमोथा 100 ग्राम, अमलतास 300 ग्राम, सौंठ 100 ग्राम,  सौंफ 100  ग्राम, चित्रक 100 ग्राम। उपरोक्त सामग्री को मिलाकर बारीक महीन चूर्ण बना लें और सुबह शाम  एक - एक  चम्मच की मात्रा में गुनगुने पानी से सेवन करें कम या अधिक लाभ होने पर औषधि की मात्रा घटा या बढ़ा सकते हैं (यदि लाभ अधिक हो रहा है तो औषधि की मात्रा कम कर दें या लाभ कम हो रहा हो तो औषधि की मात्रा थोड़ी बढ़ा दें)

 

इस औषधि का प्रयोग करने से पहले अपने आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह या परामर्श अवश्य लें।