Getting Irritated from Acne and Pimple on your beautiful face here’s the solution in hindi sagarvansi ayurveda

सौंदर्य निखार में मुहांसों से हैं परेशान तो अब मुहांसों को कहें बाय-बाय / Getting Irritated from Acne and Pimple on your beautiful face here’s the solution in hindi

सौंदर्य निखार में मुंहासों का रोड़ा

 मुंहासे जिनको दूसरी भाषा में Acne और Pimple भी कहते हैं यह समस्या महिला और पुरुष दोनों के लिए ही एक बड़ी समस्या है। मुहांसे होने का मुख्य कारण है पेट की बीमारियां या पेट की खराबी मुँहासों के होने के कई कारण और भी कारण हैं जेसे अत्यधिक तैलीय त्वचा, मानसिक तनाव, जरूरत से ज्यादा ब्यूटी प्रोडक्ट का इस्तेमाल जैसे तरह-तरह के साबुन, क्रीम, महंगे-महंगे केमिकलयुक्त लोशन। ऐसे उत्पादों से बाजार भरा पड़ा है। क्योकी पुरुष एवं स्त्री दोनों को ही सुंदर दिखने की होड़ है। इन्ही तरह-तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट के इस्तेमाल से त्वचा बेजान हो जाती है, और त्वचा पर केमिकल का भारी असर पड़ता है। जिससे आपको मुँहासों का सामना करना पड़ता है या कहें के मुहांसों को झेलना पड़ता है। मुहांसों के कारण में से एक कारण है अत्यधिक डेरी उत्पादों का सेवन शरीर में तेल या चिकनाई स्राव करते हैं। जिससे त्वचा में तेल की मात्रा अधिक हो जाती है और कोमल सी त्वचा पर मुंहासों का प्रहार हो जाता है। जिद्दी पिंपल को हटाने या निजात पाने के लिए अंग्रेजी दवाओं का सहारा भी लेते हैं परंतु संतुष्टि जनक परिणाम नहीं मिल पाते इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे जिद्दी पिंपल से आराम दिलाने के लिए आसान सा घरेलू नुस्खा बताने जा रहे हैं।

 

मुहासों का उपचार

रोज सुबह नहाने से पहले नींबू के रस में समान मात्रा में गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर धीरे-धीरे मसाज करें और मसाज करने के 30 मिनट बाद चेहरे को सादा पानी से धो लें। 12 से 15 दिनों के प्रयोग से मुंहासे दूर हो जाते हैं, और चेहरे के दाग भी दूर हो जाते है। तथा सिर्फ नींबू के छिलकों को ही मुंह पर स्नान करने से पहले धीरे-धीरे मसाज करने के बाद गुनगुने या हल्के गर्म पानी से मुंह धोने से भी कुछ ही दिनों में मुंहासों में काफी आराम मिलता है।

विशेष तथ्य

1. मुहांसों को छेड़ना (फोड़ना या नोंचना) नहीं चाहिए क्योंकि ऐसा करने से मुंहासों का पानी या मवाद जैसा तरल आपके ना चाहते हुए भी आपके चेहरे पर फैल जाता है। जिससे मुंहासे कम होने के बजाय और भी बढ़ जाते हैं, और दाग भी हो जाते हैं।

2. इस उपरोक्त प्रयोग को करने से पूर्व यदि अपने मुखमंडल को पानी की भाप दे कर साफ कर लें तो चेहरा और भी निखर जाएगा और उपरोक्त प्रयोग का शीघ्र और उत्तम लाभ मिलेगा।

3. अपने आपको पेट के विकारों (बीमारियों) से बचाएं पेट के विकारों से मुंहासे उत्पन्न होते हैं। जैसे कब्ज होने से पेट साफ नहीं होता और पेट साफ ना होने से पेट से जुड़े तमाम रोग उत्पन्न होते हैं। इसलिए कब्ज ना होने दें यदि हो तो रात में सोने से पहले गुनगुने पानी से त्रिफला चूर्ण का सेवन करें।

 

विकल्प

1. जायफल का लेप : मुहांसों में जायफल का लेप अति शीघ्र लाभ दिलाता है गाय के कच्चे दूध में जायफल को किसी पत्थर पर घिसकर लेप बना लें और उस लेप को मुंह पर लगा लें और थोड़ी देर सूखने दें। जब लेप चेहरे पर सूख जाए तब कड़े हाथों से उबटन की तरह छुड़ा लें, और फिर गुनगुने पानी से धो डालें। सुबह शाम या दिन में दो बार इस प्रयोग से कुछ ही दिनों में मुंहासे वह मुहांसों के दाग दोनों ही मिट जाते हैं, और चेहरे पर निखार आता है, और मुखमंडल पर प्राकृतिक ताजगी उत्पन्न हो जाती है।

2.जैतून का तेल (ओलिव आयल) : जैतून के तेल का लगातार या नियमित प्रयोग से भी मुहासे और मुहांसों दागों में फायदा मिलता है।

3. नीम की छाल : नीम के पेड़ की छाल को अंदर की तरफ से पत्थर पर चंदन की तरह घिसकर पत्थर पर उत्पन्न लेप को मुहांसों पर लगाने से भी मुहांसों में आराम मिलता है।

 

उपचार 2 संतरे के छिलकों को छाया में सुखा लें सूखने के बाद उनको बारीकि या महीन कूट कर चूर्ण बना लें और समान मात्रा में बेसन मिला लें यदि बेसन उपलब्ध ना हो तो दो गुनी मात्रा में बारिक पिसी हुई मुल्तानी मिट्टी मिलाकर मिश्रण में पानी मिलाकर छोड़ दें जब वह गाढ़ा घोल के रूप में हो जाए तब उसे अपने मुंहासों पर लेप कर लें और कुछ समय सूखने के बाद मुखमंडल को हल्के गर्म पानी से धो लें। ऐसा करने से 2-3 सप्ताह में आपके मुँहासे से नष्ट हो जाएंगे।

विशेष तथ्य

1. उपरोक्त क्रिया में बेसन या मुल्तानी मिट्टी क जगह पर सिर्फ संतरे के छिलके के चूर्ण में गुलाबजल मिलाकर घोल बनाकर लगाने से मुहासे व मुहांसों के साथ-साथ चेहरे की झाइयां और चेचक के दाग भी नष्ट हो जाते हैं।

2.  उपरोक्त मिश्रण को केमिकल युक्त साबुन या केमिकल युक्त उत्पादो के स्थान पर यदि भीगे हुए चेहरे पर लगाएं तो मुखमंडल में प्राकृतिक निखार आता है, और रूप निखर  उठता है।

3. सवेरे नींद से जागने के पश्चात स्वयं का वासी (दातुन या मंजन करने से पहले) थूक अपने चेहरे पर लगाने से भी मुहांसों में आश्चर्यचकित लाभ प्राप्त होता है।