pitti uchalne ka gharelu upchar home remedy for urticaria in hindi sagarvansi ayurveda

पित्ती उछलने का के रोग का साधारण घरेलू उपचार / pitti uchalne ka gharelu upchar home remedy for urticaria in hindi

पित्ती उछलने की समस्या का घरेलू उपचार (Urticaria Remedy)

पित्ती उछलना एक काफी साधारण सा रोग या समस्या है। यह एक ऐसी त्वचा संबंधित समस्या है जिसमें मानव शरीर के कुछ हिस्सों में या पूरे शरीर पर छोटे-बड़े चकत्ते उत्पन्न हो जाते हैं। यह चकते लाल रंग के होते हैं और शरीर की त्वचा पर उभरे हुए होते हैं। मानव शरीर पर इस स्थिति के उत्पन्न होने को ही पित्ती उछलना या पित्ती की समस्या होना भी कहते हैं। इसे अंग्रेजी भाषा में (Urticaria) नाम से जाना जाता है। मानव शरीर पर पित्ती उछलने से पीड़ित व्यक्ति को पित्ती से प्रभावित पति क्षेत्र में काफी मीठी - मीठी सी खुजली भी महसूस होती है। इस स्थिति में व्यक्ति पित्ती पर खुजाता है और खुजाते - खुजाते परेशान हो जाता है। जिसकी वजह से पित्ती के आकार में और वृद्धि हो जाती है और इसके बाद खुजली और तीव्रता से होने लगती है। खुजली के साथ साथ इस स्थिति में कभी - कभी दर्द भी महसूस होता है और अचानक से अपने आप बंद भी हो जाता है। पित्ती उछलने से पहले इसके कोई संकेत नहीं देखे जाते हैं। यह रोग अपने आप कभी अचानक से उत्पन्न हो जाता है। जिसमें शरीर में खुजली उत्पन्न होने लगती है और खुजाने के साथ ही यह बढ़ने भी लगती है। त्वचा पर खुजली करते समय त्वचा को छूने पर उभरे हुए चकत्ते महसूस होते हैं। साधारण तौर पर यह रोग स्वतः ही उठता है और कुछ समय के बाद स्वतः ही शांत हो जाता है। परंतु कभी-कभी यह रोग ठहर जाता है। जिसके कारण पीड़ित व्यक्ति को काफी परेशानी होती है। आज यहां हम आपको इस पित्ती की समस्या से आराम पाने का घरेलू उपचार बताएं बताएंगे।

 

पित्ती उछलने के कारण 

* कब्ज की समस्या,

* पाचन क्रिया के रोग,

* अजीर्ण ,

* खून की गर्मी,

* खून की खराबी 

* शरीर में पित्त का अधिक बढ़ जाने के कारण पित्ती उछलने की समस्या होने लगती है।

 

पित्ती उछलने की समस्या का घरेलू उपचार (Urticaria Remedy)

50 ग्राम अजवाइन अच्छी तरह साफ की हुई अच्छी तरह से कूटी हुई 50 ग्राम गुड़ के साथ मिलाकर 6 - 6 ग्राम की गोलियां बना लें और प्रातः एवं सायं एक-एक गोली को ताजा पानी के साथ सेवन करें 1 सप्ताह में ही तमाम शरीर पर फैली हुई पित्ती की समस्या दूर हो जाती है।

 

विशेष

1.  पित्ती निकली हुई हो तो नहाना नहीं चाहिए। हवा लगने और नमक खाने से इसमें वृद्धि होती है।

2. पित्ती उछलना (पित्ती, छपाकी, ददोरे, शीतपित्ती, जुरपित्ती, एलर्जी, असहिष्णुता) रोग में शरीर के किसी भाग में त्वचा पर अकस्मात लाल चकते या ददोरे पड़ जाते हैं जिनमें मीठी मीठी खुजली होती है यह सारे शरीर में फैल जाती है और चकत्तों की जगह त्वचा लाल और सूजन युक्त हो जाती है और उसमें उभार दिखाई देता है।

 

विकल्प --  पोदीना की पत्तीयों को 6 ग्राम की मात्रा में पीसकर पानी में घोलकर (सर्दियों में पोदीना और पानी के घोल को उबाल कर) छान लें 12 ग्राम चीनी मिलाकर नित्य प्रातः एवं सायं इस प्रकार मात्र दो बार पीने से बार-बार पित्ती निकलना बंद हो जाती है।

 

तत्कालिक उपचार

1. तिल्ली के तेल का फाहा गुदा में दबाने से तत्काल पित्ती ठीक हो जाती है।

2. खाने का सोडा 4 ग्राम को आधा लीटर पानी में घोलकर त्वचा पर मल देने से पित्ती उछलने चर्मशोथ, खुजली, त्वचा पर दाने निकल आना जिनमें तेज खुजली हो, आदि कष्टों में तत्काल आराम मिलता है।

3. अलसी का तेल 2 भाग 1 शीशी में डालकर ऊपर से कपूर एक भाग डालकर शीशी को टाइट बंद कर दें। 10 से 15 मिनट रख देने से दोनों मिलकर एक हो जाएंगे इस तेल की मालिश शरीर पर करें इससे पित्ती उछलना ददोरे पड़ना या एकदम हवा आदि लगने से शरीर में खारिश होना ठीक होता है।

 pitti uchalna aisi pareshani hoti hai jisme insaan ke shareer par chote chote daane nikal aate hai ye daane dheere dheree bade hone lagte hai in daano me kaafi khujli bhi hoti hai or inko khujane ke sath sath ye bade daane ke saman ho jate hai is samasya ke liye pitti uchalne ka gharelu upchar bataya gaya hai is pitti uchalne ke gharelu upchar se aap pitti ki samasya me aaram paa sakte hai